Trending News

विश्व मधुमेह दिवस 2019ः सर्दियों में करें खुद की सुरक्षा, यहां पढ़ें डायबिटीज के लक्षण और बचाव के बारे में

[Edited By: Gaurav]

Thursday, 14th November , 2019 04:12 pm

मौसम का बदलाव सामान्य लोगों की तुलना में डायबिटीज वालों पर कहीं ज्यादा प्रतिकूल प्रभाव डालता है. इसलिए सर्दियों में डायबिटीज वालों को अत्यंत सावधानी बरतने की आवश्यकता होती है. गुरुवार 14 नवंबर को वर्ल्ड डायबिटीज डे है. जानिए इसके कारण और बचाव के बारे में .....

कारण

सर्द हवा के कारण शरीर में ऐसे हॉर्मोंस का निर्माण होता है, जो शुगर बढ़ा सकते हैं. खासकर तनावग्रस्त होने पर। इसके अलावा कुछ अन्य कारणों से भी ब्लड शुगर बढ़ सकती है. जैसे ...


खाने में बदलाव: सर्दियों में ठंडी हवा के कुप्रभाव से बचने के लिए ऐसे पदार्थों का ज्यादा सेवन किया जाता है, जो मीठे या चिकनाईयुक्त होते हैं. जैसे गुड़ की चिक्की, रेवड़ी, लड्डू आदि. ऐसे खाद्य पदार्थ वजन बढ़ाने के अलावा शुगर भी बढ़ाते हैं.

नियमित व्यायाम न करना : सर्दियों के मौसम में कई दिनों तक धूप न निकलने और अधिक कोहरा होने से लोगों में आलस्य बढ़ जाता है. इस कारण अनेक लोग व्यायाम नहीं कर पाते।.नतीजतन उनका शुगर और वजन दोनों ही बढ़ता है. जाड़े के मौसम में सर्दी, जुकाम और अन्य संक्रामक रोगों का प्रकोप भी बढ़ जाता है. डायबिटीज वालों में किसी भी तरह की बीमारी शारीरिक तनाव बढ़ाती है. इस कारण शुगर बढ़ती है.

लक्षण

  • त्वचा का बेरंग होना।
  • सुन्नपन या सनसनाहट।
  • पैरों में संवेदना कम होना।
  • बिना दर्द वाले छाले या अन्य जख्म।
  • मवाद के साथ अथवा मवाद के बिना घाव होना।

इलाज

डायबिटिक फुट की समस्याओं का इलाज स्थिति की गंभीरता के अनुसार भिन्न-भिन्न होता है।

सर्जरी के बगैर इलाज उपचार: डायबिटिक फुट की समस्याओं का इलाज करने के लिए सर्जरी रहित विधियों का उपयोग करते हैं। ये तरीके हैं, जैसे

  • घावों को साफ रखना और ड्रेसिंग।
  • पैर को स्थिर रखने वाला उपकरण पहनना।

सर्जरी से इलाज

जब सर्जरी रहित उपचार से डायबिटिक फुट की समस्याओं का समाधान नहीं हो पाता है तो डॉक्टर सर्जरी के बारे में विचार कर सकते हैं।

पैरों पर दें ध्यान

  • हर समय जूते और मोजे पहनें। कभी भी नंगे पैर न चलें।
  • हर दिन अपने पैरों को धोएं। उन्हें सावधानी से सुखाएं, खासकर पंजों के बीच।
  • हर दिन अपने पैरों की जांच करें। यह देखें कि पैर में लाल धब्बे, कटने-फटने, सूजन और फफोले आदि तो नहीं हैं।
  • अपने पैरों को गर्म पानी में न डालें। अगर ऐसा करते हैं तो आपके पैर जल सकते हैं और आपको इसका आभास भी नहीं होगा।

Latest News

World News