Trending News

भारत को अनुदान के तौर पर वेंटिलेटर्स देंगे - अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप

[Edited By: Rajendra]

Saturday, 16th May , 2020 12:56 pm

अमरीकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने शुक्रवार को कहा है कि अमरीका कोरोना महामारी से लड़ने में भारत की मदद के लिए वेंटिलेटर्स देगा.

भारत ने हाइड्रॉक्सीक्लोरोक्वीन दवाई अमेरिका भेजने के लिए निर्यात पर लगे बैन को हटाया था। संकट के वक्त भारत की तरफ से की गई इस मदद का अमेरिका कायल तो हुआ ही था और अब उसने भी बदले में मदद का फैसला किया है। राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने भारतीय समयानुसार रात करीब 12.30 बजे ट्वीट किया, 'मुझे यह घोषणा करते हुए खुशी हो रही है कि अमेरिका हमारे दोस्त भारत को वेंटिलेटर दान करेगा। हम इस महामारी के वक्त भारत और पीएम नरेंद्र मोदी के साथ खड़े हैं। हम वैक्सीन बनाने में भी सहयोग कर रहे हैं। हम साथ मिलकर इस अदृश्य दुश्मन से लड़ेंगे।'

राष्ट्रपति ट्रंप ने शुक्रवार को भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तारीफ की. उन्होंने कहा, भारत बहुत महान देश है और प्रधानमंत्री मोदी मेरे बहुत अच्छे मित्र हैं. मैं कुछ दिन पहले ही भारत से लौटा हूं और हमलोग एक साथ (पीएम मोदी) रहे. राष्ट्रपति ट्रंप ने अपने बयान में नई दिल्ली, अहमदाबाद और आगरा दौरे का जिक्र किया. इससे पहले व्हाइट हाउस की ओर से कहा गया कि भारत के साथ अमेरिकी संबंधों को लेकर राष्ट्रपति ट्रंप बहुत खुश हैं. भारत अमेरिका का एक बड़ा साझीदार बन गया है. इसी मामले में सूत्रों के मुताबिक बताया जा रहा है कि अमेरिका भारत को 200 वेंटिलेटर्स दे सकता है. ट्रंप ने यह भी कहा है कि भारत और अमेरिका मिलकर वैक्सीन बना रहे हैं जिसे लोगों को मुफ्त में दिया जा सकता है.

भारत ने भी अमेरिका के साथ दोस्ती निभाते हुए हाइड्रॉक्सीक्लोरोक्वीन दवा की सप्लाई भेजी थी. ट्रंप ने इसके लिए खुद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से आग्रह किया था. ट्रंप के आग्रह को स्वीकार करते हुए सरकार ने दवा की बड़ी खेप अमेरिका भेजी थी. अमेरिका ने कोरोना मरीजों के इलाज के लिए भारत यह दवा मांगी थी. भारत में इस दवाई का निर्माण बड़े स्तर पर होता है, लिहाजा अमेरिका और राष्ट्रपति ट्रंप की मांग फौरन पूरी कर दी गई. ट्रंप ने इसके लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को धन्यवाद दिया था.

उन्होंने यह भी कहा कि अमरीका और भारत कोरोना वायरस की वैक्सीन बनाने की दिशा में भी एक-दूसरे का सहयोग कर रहे हैं ताकि इस ''अदृश्य दुश्मन'' को ख़त्म किया जा सके.

ट्रंप ने कहा, ‘मैं कुछ ही समय पहले भारत से लौटा हूं और हम भारत के साथ मिलकर काम कर रहे हैं। अमेरिका में भारतीय बहुत बड़ी संख्या में हैं और आप जिन लोगों के बारे में बात कर रहे हैं उनमे से कई लोग टीका विकसित करने में जुटे हुए हैं। बेहतरीन वैज्ञानिक और अनुसंधानकर्ता।’ ट्रंप ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को अपना बहुत अच्छा मित्र बताया।

ट्रंप की ओर से वायरस के मामलों के लिए प्रशासन में नियुक्त किए गए एक पूर्व दवा कार्यकारी मोनसेप स्लोई ने कहा कि हमारा प्रयास वर्ष 2020 के अंत तक टीका तैयार करने का है.

 

Latest News

World News