Trending News

कोरोना के मुश्किल दौर में उत्तर प्रदेश सरकार की पहल

[Edited By: Vijay]

Monday, 21st June , 2021 02:40 pm

कोरोना के मुश्किल दौर में उत्तर प्रदेश सरकार ने आर्थिक रूप से पिछड़े वर्ग के 14.71 करोड़ लाभार्थियों को मुफ्त राशन वितरण शुरू करने की घोषणा की.  सबसे बड़े खाद्यान्न वितरण प्रयासों में से  एक में उत्तर प्रदेश की योगी सरकार जून, जुलाई और अगस्त के लिए 5 किलो खाद्यान्न जनता को मुफ्त प्रदान करेगी. यह पीएमजीकेवाई के तहत बांटे जा रहे राशन के अतिरिक्त होगा.

केंद्र सरकार के निर्देशों के अनुसार, पीएमजीकेवाई से वितरण भी दिवाली तक जारी रहेगा जिससे लाभार्थियों को एक महीने में 10 किलो मुफ्त अनाज मिल सकेगा. सीएम की   पहल का उद्देश्य आर्थिक रूप से कमज़ोर नागरिकों के संकट को कम करना है, जो चल रही महामारी के कारण राशन और भोजन की व्यवस्था करने में असमर्थ हैं या जिनकी जैविका के साधन बंद हो गए हैं.

 एक बड़े पैमाने पर, सरकार राज्य भर में 80,000 उचित मूल्य की दुकानों पर अंत्योदय के राशन कार्डधारकों और पात्र परिवारों को 3 किलो गेहूं और 2 किलो चावल वितरित   करेगी. 20 जून से शुरू होकर खाद्यान्न वितरण शुरू होकर 30 जून तक चलेगा। आने वाले दिनों में सरकार द्वारा अगले दो महीनों के लिए वितरण की तारीखों की घोषणा की   जाएगी. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अधिकारियों को राज्य भर में मुफ्त राशन वितरण के संबंध में सभी व्यवस्था करने का निर्देश दिया और इस प्रक्रिया की निगरानी नोडल अधिकारियों द्वारा कोविड सुरक्षा प्रोटोकॉल का पालन करते हुए की जाएगी.

विशेष रूप से, अंत्योदय अन्न योजना के तहत लाभार्थियों की लगभग 1.30 करोड़ यूनिट और पात्र घरेलू कार्ड धारकों के तहत 13,41,77,983 यूनिट हैं. खाद्य एवं आपूर्ति   विभाग के अनुसार आधार कार्ड प्रमाणीकरण के बाद ई-पीओएस मशीनों के माध्यम से राशन वितरण किया जाएगा. जिन लोगों को आधार पहचान के माध्यम से मुफ्त राशन    नहीं मिल पाएगा, उन्हें मोबाइल ओटीपी वेरीफिकेशन के माध्यम से दिया जाएगा. सोशल डिस्टेंसिंग बनाए रखने के लिए प्रत्येक दुकान पर एक बार में केवल पांच लाभार्थियों को अनुमति दी जाएगी और लाभार्थियों की सुविधा और सुरक्षा के लिए ऑनलाइन टोकन की व्यवस्था की जाएगी, जिन्हें ई-पीओएस मशीन का उपयोग करने से पहले अपने हाथों   को साफ करने के लिए कहा जाएगा.

Latest News

World News