Trending News

'मस्तिष्क सफाई' के लिए जरूरी है रात में 2 घंटे की गहरी नींद, ऐसा न करने वाले जूझते हैं दिक्कतों से

[Edited By: Gaurav]

Thursday, 7th November , 2019 12:23 pm

नींद शरीर के लिए बेहद जरूरी है. दुनियाभर में लोग नींद की कमी से जूझ रहे हैं. देर रात तक जागने और जरूरत से कम नींद लेने के कारण ही लोग मानसिक बीमारियों का शिकार हो रहे हैं.


हमारे शरीर और स्वास्थ्य के लिए 24 घंटे में से कम से कम 7-8 घंटे की नींद बहुत जरूरी है. दरअसल हमारा शरीर एक प्रकार की मशीन है, जिसके लिए लगातार काम करना संभव नहीं है. नींद के द्वारा शरीर की मांसपेशियां रिचार्ज होती हैं और दोबारा काम करने के लिए तैयार होती हैं.

आमतौर पर जब हम रात में सोते हैं, तो कुछ समय गहरी नींद में होते हैं, जिसे डीप स्लीप कहा जाता है, और कुछ समय उथली या हल्की नींद में होते हैं, जिसे लाइट स्लीप कहा जाता है. न्यू हेल्थ एडवाइजर पर छपी एक रिपोर्ट के अनुसार 18 साल से ज्यादा उम्र के लोगों को रोजाना रात में अपनी कुल नींद का लगभग 20% हिस्सा गहरी नींद लेना चाहिए. वयस्कों के लिए कम से कम 1.5 से 1.8 घंटे (लगभग 2 घंटे) की गहरी नींद बेहद जरूरी है.

तनाव कम करती है गहरी नींद

हाल में ही नेचर ह्यूमन बिहैवियर नाम के जर्नल में एक रिसर्च छापी गई, जिसमें बताया गया कि गहरी नींद आपको हर तरह के तनाव से छुटकारा दिलाने में बहुत कारगर है. इस रिसर्च के अनुसार अगर आप रात में ठीक ढंग से नहीं सो पाते हैं, तो आपके तनाव की समस्या 30% तक बढ़ सकती है. रिसर्च के अनुसार आप जितना ज्यादा गहरी नींद सोएंगे, उतना ही आपका मस्तिष्क स्वस्थ रहेगा और आप उठने के बाद फ्रेश महसूस करेंगे. ये रिसर्च यूनिवर्सिटी ऑफ कैलिफोर्निया के साइकोलॉजी (न्यूरोसाइंस) विभाग के प्रोफेसर मैथ्यू वॉकर ने लिखा है.

फालतू की बातों को भुलाती है नींद

पिछले दिनों आई एक अन्य रिसर्च में भी कुछ इसी तरह की बात का जिक्र किया गया है. इस रिसर्च में वैज्ञानिकों ने बताया है कि अगर आप रात में गहरी नींद सोते हैं, तो इससे दिनभर में हुई अनावश्यक बातों और घटनाओं को भुलाने में आपको मदद मिलती है. दिमाग के लिए जो चीजें फालतू होती हैं, दिमाग नींद के दौरान उन्हें मस्तिष्क से हटा देता है. इस तरह अगले दिन सोकर उठने के बाद आपके पास सिर्फ उन्हीं जानकारियों और चीजों की याद बचती है, जो आपके लिए जरूरी होती हैं. ये रिसर्च 'साइंस' पत्रिका के नवंबर के अंक में छापी गई है.

Latest News

World News