Trending News

कानपुर मेट्रो में हो रहे इस सराहनीय कार्य के लिये यूपी मेट्रों के टीम मेम्बर्स बधाई और प्रशंसा के पात्र

[Edited By: Vijay]

Friday, 7th January , 2022 01:25 pm

कानपुर मेट्रो ट्रेन में छूटे पर्स,मोबाईल,और लैप्टाप के अलावा यात्रियों के  करीब 8 लाख रुपये यूपी मेट्रो टीम ने लौटाएं, इस सराहनीय और ईमानदारी से कानपुरवासी गदगद है ..यात्रियो का मानना है कि इससे लोगों में मेट्रों के प्रति रुक्षान बढ़ा है और आने वाले समय में हम कामना करते है कि मेट्रो ट्रेन कानपुर के अन्य क्षेत्रों में भी जल्द से जल्द चालू हो ..इससे कानपुर शहर के ट्राफिक से लोगो को निजात मिलेगी और वो सुरक्षित भी रहेंगे ,सड़क दुर्घटनाओं में भी भारी कमी आ सकती है ..मेट्रो ट्रेन कानपुरवासियों के लिये एक बेहतरीन तोहफा है जो उत्तर प्रदेश की सरकार ने उन्हे दिया है... ट्रेन में यात्रियो की छूटी बहूमूल्य चीजें भी उन्हे प्राप्त हो गयी जिससे यूपी मेट्रों के मेंम्बर्स की ईमानदारी साफ दिखायी देती है

आपको बता दे कि शहर में 29 दिसंबर 2021 से मोतीझील से आइआइटी के बीच नौ किमी के दायरे में शुरु हुए मेट्रो ट्रेन के संचालन को नौ दिन बीत चुके हैं। इस अंतराल में मेट्रो ट्रेन में परिवहन के दौरान 17 बार लोग कीमती सामान भी भूले। ऐसे में सुरक्षा कर्मियों ने लोगों की परेशानी दूर कर चेहरे पर मुस्कान लाने का काम किया। शहरवासी कर्मचारियों की ईमानदारी से खुश होकर प्रशंसा में पत्र लिख रहे हैं। मेट्रो रेल के डीजीएम जनसंपर्क पंचानन मिश्रा ने बताया कि लखनऊ मेट्रो में भी सराहनीय कार्यों के तहत उत्तर प्रदेश मेट्रो की टीम ने यात्रियों के छूटे हुए आठ लाख रुपये से अधिक नकद और करीब 500 मोबाइल और लैपटाप जैसे उपकरण लौटाने में भूमिका अदा की है। 

चंद घंटे में मिल गया खोया हुआ पर्स

शिवाजी नगर निवासी उमेश चंद्र मिश्रा मेट्रो में अपना पर्स भूल गए। पर्स में उनका ड्राइवेंग लाइसेंस और डेबिट कार्ड जैसे जरूरी दस्तावेज थे। उमेश ने सुरक्षा कर्मी को अवगत कराया तो कर्मचारी ने फौरन तलाश कराई और चंद घंटों में पर्स लौटाया। उमेश ने पत्र लिखकर मेट्रो कर्मियों को धन्यवाद दिया।

शहर के बाकी हिस्सों तक पहुंचे मेट्रो :

पहली बार यात्रा कर रहीं मीतू ने पत्र में लिखा कि कानपुर में हो रहे इस बदलाव का साक्षी बनकर खुशी महसूस हुई। यात्रा के दौरान मेट्रो के अंदर का माहौल अच्छा मिला। मैंने एक छोटे बच्चे को मेट्रो से यात्रा करते देखा, जिसकी आंखों में कौतूहल था। आपसे प्रार्थना है कि विकास की यह रफ्तार कानपुर के बाकी हिस्सों तक भी पहुंचाएं।

सफाई का रखा जा रहा है विशेष ध्यान

कोरोना के मामले रोज ही बढ़ते जा रहे हैं और कानपुर में मेट्रो को लेकर लोगों में जबरदस्त उत्साह है। इसलिए यहां भीड़ भी खूब हो रही है। इसलिए यात्रियों की सुरक्षा के लिए रोज सुबह अल्ट्रावायलेट (यूवी )लैम्प से पूरी ट्रेन को सैनिटाइज किया जा रहा है। मेट्रो में यात्रा करने वालों की संख्या कम हुई और 21 हजार के करीब लोगों ने मेट्रो ट्रेन का उपयोग किया।

मेट्रो में यात्रियों की संख्या उसके चालू होने के बाद से बहुत ज्यादा रही है। कल भी करीब 21 हजार यात्रियों ने मेट्रो का इस्तेमाल किया। दूसरी ओर शहर में कोरोना के मरीजों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है मगर उत्तर प्रदेश रेल मेट्रो कारपोरेशन ने ट्रेन शुरू होने के पहले दिन से ही यूवी लैम्प से ट्रेन को सैनिटाइज करना शुरू कर दिया है। सबसे पहले मेट्रो ने जब प्रधानमंत्री ट्रेन में बैठे थे तो उससे पहले एसपीजी के अधिकारियों ने यूवी लैम्प का प्रयोग कैसे होता है यह देखा था। उसके बाद से रोज सुबह डिपो में सभी ट्रेनों को सैनिटाइज किया जाता है। आधे-आधे घंटे में सभी ट्रेनों को सैनिटाइज कर दिया जाता है।

Latest News

World News