Trending News

दिल्ली में हिंसा के खिलाफ अब तक 22 FIR दर्ज, 86 पुलिसवाले घायल

[Edited By: Punit tiwari]

Wednesday, 27th January , 2021 11:15 am

दिल्ली पुलिस ने मंगलवार को राष्ट्रीय राजधानी में किसानों की ट्रैक्टर परेड के मामले में अलग-अलग थानों में देर रात तक 22 FIR दर्ज की हैं। इसमें बलवा समेत तोड़फोड़ और पुलिसकर्मी की पिस्टल लूट जैसे मामले शामिल हैं। गणतंत्र दिवस पर ट्रैक्टर परेड निकाल रहे किसानों ने दिल्ली को जैसे जंग का मैदान बना दिया था। पुलिसवालों पर ट्रैक्टर चढ़ाने की कोशिश, बसों और गाड़ियों में तोड़फोड़, पथराव के बाद कुछ किसानों ने लाल किले पर अपना झंडा लगा दिया। लाल किले के पास कई पुलिसवालों ने दीवार से कूदकर अपनी जान बचाई।

इससे पहले दिन में, तीन कृषि कानूनों के खिलाफ हजारों किसानों ने पुलिस के बैरिकेड्स को तोड़ दिया और पुलिस के साथ झड़प की। प्रदर्शनकारियों ने गाड़ियों में तोड़ फोड़ की और लाल किले पर धार्मिक झंडे फहरा दिए। जानकारी के मुताबिक हिंसा में 150 से ज्यादा पुलिसकर्मी जख्मी हुए हैं। दूसरी तरफ, आईटीओ में एक प्रदर्शनकारी का ट्रैक्टर पलट गया जिससे उसकी मौत हो गई। वहीं, इस हिंसा के कारण 86 पुलिसकर्मी और कई किसान घायल हैं। दिल्ली के एलएनजेपी अस्पताल में कुल 18 घायल किसानों और पुलिसकर्मियों का इलाज चल रहा है, जबकि कल शाम करीब 47 घायलों को आईएसबीटी ट्रॉमा सेंटर में शिफ्ट किया गया था।

अब ड्रोन कैमरे के जरिए लाल किले के सुरक्षा व्यवस्था की निगरानी की जा रही है। ड्रोन कैमरे के जरिये लाल किले के आस पास कोई उपद्रवी तो नहीं है, इसकी भी निगरानी की जा रही है। दिल्ली पुलिस कमिश्नर ने साफ कहा है कि अब सिर्फ सुरक्षाकर्मियों का ही लाल किले पर कब्जा होना चाहिए। दिल्ली पुलिस अब जगह-जगह लगे सीसीटीवी कैमरों की फुटेज निकालकर प्रदर्शनकारियों की पहचान करने में जुटी है। लालकिले, नांगलोई, मुकरबा चौक, सेंट्रल दिल्ली में सीसीटीवी कैमरों से फुटेज निकालने के लिए स्पेशल सेल, क्राइम ब्रांच की मदद भी ली जा रही है। इसमें पुलिस पर हमला करने वालों, लालकिले पर चढ़ने वालों, सरकारी संपत्ति को नुकसान पहुंचाने वालों पर पुलिस की नजरें हैं। साथ ही उन किसान नेताओं की पहचान भी की जा रही है जिन्होंने आंदोलनकारियों को निर्धारित रूट से अलग सेंट्रल दिल्ली में जाने के लिए भड़काया।

Latest News

World News