Trending News

देश में कोरोना वायरस के पीड़ितों की संख्या 145380 दर्ज, मरने वालों की संख्या बढ़कर 4167

[Edited By: Rajendra]

Tuesday, 26th May , 2020 11:13 am

कोरोना वायरस (कोविड-19) का प्रकोप भारत में तेजी से फैल रहा है। देश में वैश्विक महामारी से हर दिन संक्रमितों और मृतकों की संख्या में लगातार बढ़ोतरी हो रही है। तमाम कोशिशों और सावधानियों के बावजूद भी वायरस का प्रकोप थमने का नाम नहीं ले रहा है।

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक सोमवार से सुबह तक कोरोना वायरस की वजह से 146 मौतों और 6,535 मामलों में वृद्धि दर्ज की गई। इस तरह से अब तक देश में कोरोना वायरस के पीड़ितों की संख्या 1,45,380 दर्ज हुई है। वहीं मरने वालों की संख्या बढ़कर 4,167 हो गई है। कोरोना वायरस के सक्रिय मामलों की बात करें तो इस समय 80,722 मामले हैं। वहीं 60,490 लोग रिकवर हुए हैं। वहीं एक मरीज पलायन कर चुका है। कुल पुष्टि हुए मामलों में विदेशी शामिल हैं।

एक मई तक 35 हजार मामले थे
तब से अब तक संक्रमित रोगियों की संख्या चार गुना हो गयी है. मौत के मामले तीन गुना से अधिक बढ़ गये हैं और इलाज करा रहे रोगियों की संख्या में भी लगभग इतना ही इजाफा हुआ है. हालांकि सही हो चुके रोगियों की संख्या उस स्तर की तुलना में छह गुना से अधिक बढ़ गयी है.

महाराष्ट्र, तमिलनाडु, गुजरात और दिल्ली कोरोना संक्रमण से सबसे ज्यादा प्रभावित राज्य हैं। अकेले महाराष्ट्र में 52 हजार से ज्यादा संक्रमण के मामले हैं। इन राज्यों में कोरोना मरीजों की संख्या में तेजी से इजाफा रहा है। वहीं पश्चिम बंगाल, बिहार, उत्तर प्रदेश, झारखंड समेत कई ऐसे राज्य हैं जहां प्रवासी मजूदरों के आने से कोरोना के संक्रमण में तेजी देखा जा रहा है। इन राज्यों में प्रवासी मजदूरों के लौटने के चलते कोरोना संक्रमण के मामले बढ़े हैं। इन राज्यों में बड़ी तादाद में प्रवासी मजदूर लौट रहे हैं, ऐसे में सरकार के लिए सभी को क्वारंटीन करना बेहद मुश्किल भरा काम साबित हो रहा है। एक आंकड़े के मुताबिक सूरत, दिल्ली, पुणे, अहमदाबाद, मुंबई, गाजियाबाद, नोएडा, फरीदाबाद, गुरुग्राम, कोलकाता, बेंगलुरु से ज्यादा प्रवासी श्रमिक इन राज्यों में लौट रहे हैं।

महाराष्ट्र में कोविड-19 के कुल 52667 पॉजिटिव केस मिल चुके हैं, जो किसी भी राज्य से कई गुना अधिक है। इनमें से 15786 लोग पूरी तरह से स्वस्थ हो चुके हैं या उन्हें छुट्टी दे दी गई है। इस राज्य में अब तक सबसे अधिक 1695 लोगों की जान जा चुकी है।

महाराष्ट्र के बाद कोरोना की सबसे अधिक मार तमिलनाडु में ही देखने को मिल रही है। तमिलनाडु में भी कोरोना वायरस के मरीजों की संख्या 17082 हो चुकी है। यहां इस महामारी से 118 की मौत भी हो चुकी है और 8731 पूरी तरह से ठीक भी हो चुके हैं।

महाराष्ट्र और तमिलनाडु के बाद कोरोना का सबसे ज्यादा कहर गुजरात में देखी जा रही है। गुजरात में कोरोना के 14460 मामले अब तक आए हैं, जिनमें 888 लोगों की मौत हो चुकी है और 6636 लोग या तो स्वस्थ हो चुके हैं या फिर उन्हें अस्पताल से छुट्टी दे दी गई है।

दिल्ली में भी कोरोना संक्रमण की रफ्तार लगातार बढ़ते ही जा रही है। राजधानी में कोरोना वायरस के अब तक 14053 मामले आ चुके हैं। कोविड-19 महामारी से जहां 276 लोगों की मौत हो चुकी है, वहीं 6771 लोग पूरी तरह से स्वस्थ हो चुके हैं।

मध्य प्रदेश भी कोरोना वायरस का आंकड़ा लगातार बढ़ता जा रहा है। यहां कोरोना के मामलों की संख्या बढ़कर 6859 हो गई है, जिनमें से 300 लोगों की मौत भी हो चुकी है। इसके अलावा, 3571 लोग ठीक हो चुके हैं।

आंध्र प्रदेश में कोरोना वायरस के अब तक 3110 मामले सामने आए हैं, जिनमें से 1896 लोगों का इलाज हो गया है और उन्हें अस्पताल से छुट्टी दे दी गई है। यहां 56 की मौत भी हुई है।

Latest News

World News