Trending News

निर्भया केस: दोषियों को मिले और 20 दिन, डेथ वॉरंट पर टली सुनवाई

[Edited By: Gaurav]

Wednesday, 18th December , 2019 04:30 pm

दिल्ली के मशहूर निर्भया गैंगरेप के गुनाहगार अक्षय ठाकुर की पुनर्विचार याचिका को सुप्रीम कोर्ट ने खारिज कर दिया. इस मामले में पटियाला हाउस कोर्ट में सुनवाई हुई. ऐसा माना जा रहा था कि कोर्ट आज चारों दोषियों का डेथ वॉरंट जारी कर सकता है. लेकिन कोर्ट में अब सुनवाई टल गई है. इसके साथ ही अगली सुनवाई अब 7 जनवरी 2020 को होगी. ऐसे में दोषियों को अब 20 दिन को मोहलत और मिल गई है.

अदालत का फैसला सुनते ही निर्भया की मां कोर्ट में ही रो पड़ीं. उन्हें उम्मीद थी कि सुप्रीम कोर्ट से अक्षय की पुनर्विचार याचिका खारिज होने पर आज डेथ वारंट जारी हो जाएगा लेकिन ऐसा न हो सका, जिससे वह कुछ दुखी होकर रो पड़ीं.

वहीं कोर्ट ने तिहाड़ जेल प्रशासन को निर्देश जारी किया है, जिसमें तिहाड़ जेल अधिकारियों से कहा है कि वे दोषियों को दया याचिका दायर करने के लिए नए सिरे से नोटिस जारी करें. इसमें वह पूछे कि क्या वे दया याचिका दायर करेंगे?

तिहाड़ जेल में बंद चारों दोषी वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिये अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश सतीश कुमार अरोड़ा की कोर्ट में पेश हुए हैं.

बता दें कि 13 दिसंबर को निर्भया के दोषियों के डेथ वारंट से जुड़ी याचिका पर सुनवाई बुधवार तक टाल दी थी. इसके पीछे यह तर्क दिया गया था कि एक दोषी अक्षय कुमार सिंह की पुनर्विचार याचिका पर सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई चल रही है.

दोषियों के वकील को लगी थी फटकार

पिछले सुनवाई के दौरान दोषियों के वकील एपी सिंह को पटियाला हाउस कोर्ट ने कड़ी फटकार भी लगाई थी. दरअसल, डेथ वारंट पर सुनवाई के समय एपी सिंह के तर्कों पर कोर्ट ने कहा था- 'सुप्रीम कोर्ट में पुनर्विचार याचिका लंबित है. आप कोर्ट में पेश नहीं होते, इसलिए देरी हो रही है.' साथ ही कोर्ट ने कहा था- 'जब तक फैसला नहीं आ जाता तब तक हम सुनवाई टाल रहे हैं.'

कोर्ट के फैसले पर निर्भया की मां ने क्या कहा?

निर्भया की मां आशा देवी ने कोर्ट के फैसले पर कहा कि अदालत ने उन्हें (दोषियों) को उपाय तलाशने के लिए समय दिया है. कोर्ट सिर्फ दोषियों के अधिकार देख रहा है, हमारे नहीं.इस बात की कोई गारंटी नहीं है कि अगली सुनवाई में ही फैसला आ जाए.

Latest News

World News