Trending News

वुहान में कोरोना संक्रमण से ठीक हुए करीब 90 फीसदी लोगों के फेफड़े बर्बादी के कगार पर

[Edited By: Rajendra]

Friday, 7th August , 2020 03:47 pm

दुनिया में तबाही मचा रहे कोरोना वायरस के जन्म स्थान चीन के वुहान शहर में जितने भी कोरोना मरीज ठीक हुए हैं उनमें से ज्यादातर मरीजों के फेफड़ों को भारी नुकसान हुआ है। बुहान यूनिवर्सिटी के डॉक्टरों के सर्वे में यह खुलासा हुआ है। सर्वे में पाया गया कि 5% ऐसे मामले भी सामने आए हैं जो रिकवरी के बाद दोबारा कोरोना संक्रमित होकर अस्पताल में भर्ती हुए हैं।

हॉस्पिटल्स इंटेंटिव केयर यूनिट्स के निदेशक पेंग झियोंग नेतृत्व में वुहान यूनिवर्सिटी की झॉन्गनैन हॉस्पिटल में एक टीम सर्वे कर रहे हैं जिन्होंने बुहान में कोरोना संक्रमण से ठीक हुए 100 मरीजों पर सर्वे किया।

एक साल चलने वाले इस सर्वे का पहला फेस जुलाई में खत्म हुआ है, जिसमें टीम सभी ठीक हुए 100 मरीजों पर अप्रैल से नजर रख रही थी और समय-समय पर इनके घर जाकर इनके हालात का जायजा ले रहे थे। इस सर्वे में मरीज की औसत उम्र 59 साल है।

सर्वे के पहले फेस में आए परिणाम के मुताबिक कोरोना संक्रमण से ठीक हुए करीब 90 फीसदी लोगों के फेफड़े बर्बादी के कगार पर आ गए हैं इन इन रोगियों के इन मरीजों के फेफड़ों का वेंटिलेशन और गैस एक्सचेंज फंक्शन काम नहीं कर रहा है।

मरीजों पर सर्वे कर रही टीम ने सर्वे के दौरान मरीजों के साथ 6 मिनट का वॉक टेस्ट किया जिसमें पाया गया कि कोरोना संक्रमित हुए मरीज 6 मिनट में सिर्फ 400 मीटर ही चल पा रहे हैं जबकि एक स्वस्थ व्यक्ति 500 मीटर तक चल सकता है।

इसके अलावा ठीक हुए कुछ मरीजों को 3 महीने बाद भी ऑक्सीजन सिलेंडर पर निर्भर रहना पड़ रहा है। वहीं 100 में से 10 मरीजों के शरीर से कोरोना के खिलाफ लड़ने वाली एंटीबॉडी ही खत्म हो चुकी है।

कोरोना से ठीक हुए 5% मरीज कोविड-19 न्यूक्लिक एसिड टेस्ट में नेगेटिव पाए गए हैं, लेकिन इम्यूनोग्लोब्युलिन एम टेस्ट में वे पॉजिटिव मिले हैं, इसका मतलब है कि इन मरीजों को फिर से क्वारंटाइन होना पड़ेगा।

100 लोगों पर हो रहे सर्वे में अभी तक इस बात की स्पष्टता नहीं हो पाई है कि यह मरीज ठीक होकर दोबारा कोरोना संक्रमित हो रहे हैं या पुरानी बीमारी इन्हें बार बार परेशान कर रही है। बताया जा रहा है कि इन मरीजों के शरीर में वायरस से लड़ने वाली बी-सेल्स की संख्या भी भारी संख्या में कम हुई है।

सर्वे के मद्देनजर पेंग का कहना है कि अभी कोरोना संक्रमण से बाहर आए मरीज पूरी तरह ठीक नहीं हुए हैं उनका कहना है कि इन्हें ठीक होने में अभी थोड़ा समय और लग सकता है।

Latest News

World News