Trending News

आतंकी फंडिंग मामले में हाफिज सईद पर नहीं तय हो सका आरोप, दुनिया को बेवकूफ तो नहीं बना रहा पाकिस्तान?

[Edited By: Gaurav]

Saturday, 7th December , 2019 05:18 pm

प्रतिबंधित संगठन 'जामत-उद-दावा' के मुखिया और मुंबई हमले के मास्टरमाइंड हाफिज सईद को लाहौर की आंतकवाद रोधी अदालत में आतंकी फंडिंग के मामले में पेश किया गया था. हाफिज पर आरोप तय नहीं हो सके.

शनिवार को अधिकारी आश्चर्यजनक रूप से इस हाई प्रोफाइल सुनवाई में एक सह-आरोपी को पेश करने में नाकाम रहे. आतंकवाद रोधी अदालत (एटीसी) ने लश्कर-ए-तैयबा के संस्थापक और एक अन्य सह-आरोपी मलिक जफर इकबाल के खिलाफ आरोपों को तय करने के लिए अब 11 दिसंबर की तारीख तय की है.

अदालत के एक अधिकारी ने सुनवाई के बाद कहा, ‘पंजाब पुलिस के आतंकवाद रोधी विभाग की प्राथमिकी 30/19 के तहत हाफिज सईद और अन्यों के खिलाफ मामले पर आतंकवाद के वित्त पोषण के संबंध में आतंकवाद रोधी अदालत-1 में आरोप तय किए जाने थे लेकिन आश्चर्यजनक रूप से सह-आरोपी मलिक जफर इकबाल को जेल से पेश नहीं किया गया. अब अगली सुनवाई 11 दिसंबर को होगी.’

सईद को लाहौर की कोट लखपत जेल से उच्च सुरक्षा के बीच अदालत लाया गया. पत्रकारों को सुरक्षा कारणों से सुनवाई की रिपोर्टिंग करने के लिए अदालत परिसर में प्रवेश करने की अनुमति नहीं थी. अदालत के अधिकारी ने बताया कि जज अरशद हुसैन भुट्टा ने अधिकारियों को यह सुनिश्चित करने के निर्देश दिए कि इकबाल 11 दिसंबर को अगली सुनवाई में पेश हो.

आपको बता दें भारत सरकार के वकील उज्ज्वल निकम ने हाफिज सईद की गिरफ्तारी को पाकिस्तान का नाटक करार दिया था. उन्होंने कहा था कि पाकिस्तान दुनिया को बेवकूफ बना रहा है कि उसने हाफिज सईद को गिरफ्तार कर लिया है. हमें अब यह देखना होगा कि हाफिज सईद को दोषी ठहराने के लिए पाकिस्तान अदालत में कैसा सबूत पेश करता है.

Latest News

World News