Trending News

लॉकडाउन के दौरान देशभर से कई सारी हैरान करने वाली खबरें

[Edited By: Rajendra]

Saturday, 23rd May , 2020 02:10 pm

मामला यूपी के कानपुर से है जहां पर एक बेहद ही अनोखी शादी देखने को मिला। कानपुर में युवक खाना बांटने के दौरान एक भीख मांगने वाली लड़की से प्यार कर बैठा, फिर दोनों ने सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों का पालन करते हुए शादी रचा ली।

लॉकडाउन के दौरान कई परिवार सड़क पर आने के लिए मजबूर हो गए हैं। ऐसी ही परिवार की लड़की नीलम अपने पेट को भरने के लिए भीख मांगा करती थी। दूसरी ओर उस इलाके में रोजाना जरूरतमंदों को पेट भरने के लिए अनिल अपने मालिक के साथ वहां खाना बांटने जाया करता था। बार-बार लड़की और लड़के के मिलन ने दोनों को प्यार में बदल दिया। उसके बाद क्या, दोनों ने जाति, धर्म, पैसा इन सभी चीजों को दरकिनार करते हुए शादी रचा ली।

नीलम के पिता का देहांत हो चुका है, मां पैरालिसिस से पीड़ित है। भाई और भाभी ने नीलम को पीट पीटकर घर से भगा दिया था। अनिल को जैसे ही उसकी मजबूरी का पता चला उसने तुरंत अपने मालिक को बताया। मालिक ने मामले को संज्ञान में लेते हुए अनिल के पिता से बात किया और दोनों की शादी करा दी।

अनिल के मालिक लालता प्रसाद का कहना है कि अनिल रोजाना खाना बांटने हमारे साथ जाता था, वहां पर उसे उस लड़की से प्यार हो गया। उन्होंने आगे बताया कि अनिल ने उन्हें इसकी जानकारी दी तो मैंने अनिल को सलाह दी कि वो खुद ही अपने हाथ से खाना बनाकर उस लड़की को खिलाए। इसके बाद मैंने अनिल के पिता से बात की और दोनों की शादी करा दी। शादी के बाद नीलम का कहना है कि मुझे तो लगा था कि मेरी तो शादी भी नहीं हो पाएगी।

-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------

उत्तराखंड के उस परिवार में खुशी की लहर दौड़ गई जब 24 साल पहले बिना बताए घर छोड़कर गया शख्स लॉकडाउन में वापस आ गया। उत्तराखंड के बागेश्वर जिले के रमादी गांव के रहने वाले शख्स प्रकाश सिंह कार्कि 24 साल बाद घर वापस आ गया है।

ग्राम प्रधान गणेश कुमार ने बताया कि प्रकाश को हमलोग पहचान नहीं पा रहे थे, तब उसकी पहचान के बारे में पूछताछ की और उसने अपने माता-पिता और दो भाइयों का नाम बताया। यह जानकर आश्चर्य हुआ कि यह प्रकाश सिंह है, जो वापस आ गया है और तुरंत उसकी मां को फोन किया।

उन्होंने बताया, "जब उसने अपने परिवार के सदस्यों का नाम लिया, तो हम चौंक गए, क्योंकि घर छोड़कर गया लड़का एक बड़ा आदमी बनकर लौटा है। लॉकडाउन को धन्यवाद। जब उनकी मां ने उन्हें पहचान लिया, तो यह पुष्टि हो गई कि यह प्रकास सिंह कार्की ही है, जो वापस आ गया है।"

24 साल बाद घर वापस आने के बाद प्रकाश सिंह कार्की का कहना है कि अब वह अपने परिवार को कभी नहीं छोड़ेगा। उसने कहा, "इस दौरान मैंने अपने माता-पिता और भाइयों को बहुत याद किया। अब जब मैं वापस लौट आया हूं, तो मैं फिर से नहीं जाऊंगा और केवल यहीं रहूंगा।"

Latest News

World News