Trending News

दिल्ली के उपराज्यपाल ने क्वारंटाइन के नए नियम पर अपना फैसला वापस लिया

[Edited By: Rajendra]

Saturday, 20th June , 2020 06:40 pm

दिल्ली के उपराज्यपाल अनिल बैजल ने कोरोना मरीजों के इंस्टीट्यूशनल क्वारंटाइन के नए नियम पर अपना फैसला वापस ले लिया है। शुक्रवार को एलजी बैजल ने एक आदेश जारी किया था, जिसके तहत कोरोना कोरोना मरीजों को 5 दिन के लिए इंस्टीट्यूशनल क्वारंटाइन करना अनिवार्य कर दिया गया था। एलजी बैजल के इस फैसले का आम आदमी पार्टी ने विरोध किया था। इसके बाद दवाब में आकर एलजी ने 24 घंटे के अंदर ही अपना फैसला वापस ले लिया है।

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और उनकी पार्टी ने एलजी के फैसले का पुरजोर विरोध किया था। उनकी दलील थी कि इस फैसले के कारण लोग कोरोना की जांच कराने से बचेंगे। इस कारण बीमारी फैलती ही जाएगी। वहीं आम आदमी पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्ता राघव चड्ढा ने इसे मनमानी करार दिया। उन्होंने कहा कि एलजी के इस फैसले से दिल्ली में त्राही-त्राही मच गई है।

इस मसले पर विरोध के बाद केंद्रीय गृह राज्य मंत्री जी किशन रेड्डी ने भी बयान दिया। उन्होंने शनिवार शाम को कहा कि उपराज्यपाल ने यह फैसला उन लोगों के बारे में सोच कर लिया होगा, जिनके पास घर में पर्याप्त जगह नहीं है। मुझे लगता है कि वह (एलजी) आज शाम तक उन लोगों के लिए एक और सूचना जारी करेंगे जो अपने घरों में एक अलग कमरे में आइसोलेशन में रह सकते हैं। जी किशन रेड्डी के इस बयान के बाद उम्मीद की जा रही थी कि उपराज्यपाल अपना फैसला वापस ले लेंगे। एजली बैजल ने ट्वीट कर अपने कल के फैसले को अब वापस लेने की घोषणा कर दी है।

एलजी बैजल ने ट्वीट कर लिखा कि अब इंस्टीट्यूशनल क्वारंटाइन में सिर्फ उन्हीं कोरोना संक्रमित मरीजों को रहना होगा, जिन्हें हॉस्पिटल में भर्ती करने की आवश्यकता नहीं है और उनके पास घर पर आइसोलेशन में रहने के लिए पर्याप्त जगह नहीं है।

Latest News

World News