Trending News

आपके स्मार्टफोन में है ''बीमारियों का बंग्ला'', पढ़िए 5 घंटे से ज्यादा मोबाइल चलाने वालों को होने वाले नुकसान के बारे में

[Edited By: Gaurav]

Saturday, 27th July , 2019 05:43 pm

अगर आप हर रोज 5 घंटे से ज्यादा फोन इस्तेमाल करते हैं तो ये आपकी सेहत के लिए बहुत खतरनाक है। आप गंभीर बीमारियों के शिकार हो सकते हैं। एक शोध का दावा है कि ज्यादातर समय फोन पर व्यस्त रहने वाले छात्रों की जीवनशैली में कई बदलाव आ जाते हैं। इसके चलते उनमें मोटापे और आगे चलकर हृदय रोग का खतरा हो सकता है।

कोलंबिया की सिमोन बोलीवर यूनिवर्सिटी के शोधकर्ता मिरारी मंटीला मोरन ने कहा, ‘स्मार्टफोन का इस्तेमाल कई काम के लिए किया जा सकता है और इसे हर वक्त अपने साथ रखना भी आसान है। लेकिन लोगों को इन खूबियों के प्रति आकर्षित होने की जगह यह समझना चाहिए की यह हमारे स्वास्थ्य को किस तरह प्रभावित कर रहा है।’ इस शोध के लिए 19 से 20 साल के 1060 छात्रों को चुना गया था। अध्ययन के अनुसार, पांच घंटे फोन इस्तेमाल करने वाले 43 फीसद छात्र मोटापे के खतरे का सामना कर रहे थे।

Image result for mobile side effect

मोबाइल फोन हमारे समय की सबसे बड़ी जरूरत बन कर उभरा है। कुछ सामान्य कामों को छोड़ दें तो एक व्यक्ति दिन के 10-12 घंटे स्मार्टफोन अपने पास ही रखता है और कुछ तो इससे भी ज्यादा समय तक स्मार्टफोन पास रखते हैं। बहुत से लोग सोते समय भी मोबाइल को ऑन करके ही अपने तकिये के पास या आसपास रखते हैं। ये आंकड़े मैं आपको इसलिए बता रहा हूं ताकि आप समझ सकें कि मोबाइल फोन से होने वाले खतरों से एक साथ कितनी बड़ी जनसंख्या और कितना बड़ा वर्ग प्रभावित हो रहा है। आइये आपको बताते हैं कि मोबाइल फोन से आपके स्वास्थ्य को क्या-क्या खतरे हो सकते हैं।

Related image

मोबाइल फोन के इस्तेमाल में ज्यादातर समय आप गर्दन झुकाकर नीचे देखते हैं। इससे गर्दन की मांसपेशियों में खिंचाव हो सकता है और ये अकड़ सकती हैं। ये छोटी सी गलती कई बार आपके कमर और कंधों तक या उसके भी नीचे पहुंच जाती है। इसी बीमारी को टेक्स्ट नेक सिंड्रोम कहते हैं। अगर आप लंबे समय तक मोबाइल फोन का इस्तेमाल करते ही हैं तो कम से कम 20 मिनट में एक बार आंखों को स्क्रीन से हटाकर शरीर को थोड़ा सा स्ट्रेच कर लीजिए। कई योगासनों की मदद से भी आप इस बीमारी से बच सकते हैं।

Related image

मोबाइल आपको डायबिटीज, मोटापा और दिल की कई गंभीर बीमारियां दे सकता है। दरअसल लाइटिंग स्क्रीन वाले गैजेट्स का देर रात तक इस्तेमाल करने से आपकी आंखों पर प्रभाव पड़ता है और आपकी नींद भी प्रभावित होती है। इससे आपको दिल की बीमारियों के साथ-साथ मोटापा की समस्या भी हो सकती है और आंखों को ग्लूकोमा या लो नाइट विजन की समस्या हो सकती है। शोध के मुताबिक आंखों के लिए सबसे हानिकारक स्मार्ट फोन की ब्लू यानि नीली लाइट होती है।

Related image

वैज्ञानिकों का मानना है कि मोबाइल फोन से पैदा होने वाले रेडिएशन की वजह से कई तरह के ट्यूमर्स और कैंसर का खतरा होता है। इसलिए इसके ज्यादा इस्तेमाल की सलाह नहीं दी जा सकती है। रेडिएशन के प्रभाव से बचना तो आजकल मुश्किल है लेकिन इसके प्रभाव को कम जरूर किया जा सकता है जैसे रात में सोते समय मोबाइल को ऑफ करके सोएं और मोबाइल पर बात करते हुए स्पीकर मोड पर फोन रखें या ईयरप्लग्स का इस्तेमाल करें। इसके अलावा मोबाइल फोन को अपने ऊपर की जेब में यानि दिल के करीब न रखें।

Latest News

World News