Trending News

अंतरराष्ट्रीय न्यायाधिकरण ने पाकिस्तान पर 5.8 अरब डॉलर का जुर्माना लगाया

[Edited By: Rajendra]

Monday, 7th September , 2020 03:39 pm

पाकिस्तान इन दिनों एक बड़ी मुसीबत में फंसा हुआ है. दरअसल पाकिस्तान ने एक ऑस्ट्रेलियाई कंपनी को खनन पट्टे पर देने से इनकार कर दिया था जिसके बाद एक अंतरराष्ट्रीय न्यायाधिकरण ने उस पर 5.8 बिलियन डॉलर का जुर्माना लगाया है. पाकिस्तान का कहना है कि अगर वह इतनी बड़ी रकम जुर्माने के तौर पर भरेगा तो उसे देश में चल रही कोरोनावायरस महामारी से निपटने में बहुत परेशानी उठानी पड़ेगी. यह बात तो सभी जानते है कि पाकिस्तान की आर्थिक स्थिति इन दिनों बिल्कुल भी ठीक नहीं है वह अक्सर चीन जैसे देशों से पैसे उधार लेता रहा है

बलूचिस्तान सरकार ने खदान को विकसित करने के लिए अपनी खुद की कंपनी बनाई है. कमोडिटीज की कीमतों में बढ़ोतरी के साथ, हाल ही में सोने की कीमत 2,000 डॉलर प्रति औंस से अधिक होने के कारण यह एक अच्छा अवसर है. पाकिस्तान और टेथियान दोनों ने वैकल्पिक समाधानों पर चर्चा करने की इच्छा जताई है लेकिन किसी सौदे पर किसी भी वार्ता की स्थिति साफ नहीं है. पाकिस्तान की तरफ के अधिकारियों ने कहा कि वे किसी से सीधे संपर्क में नहीं हैं और कोई विशेष समझौता नहीं किया गया है.

दक्षिण-पश्चिम पाकिस्तान के बलूचिस्तान प्रांत में रेको दीक जिले में सोने और तांबे की खाने पाई जाती हैं. ऑस्ट्रेलियाई कंपनी से डील होने के बाद भी पाकिस्तान ने उन्हें पट्टा नहीं दिया. पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान की सरकार इसे एक रणनीतिक राष्ट्रीय संपत्ति मानती है, हालांकि रेको दीक खनन परियोजना देश को महंगी पड़ सकती है. विश्व बैंक का अंतरराष्ट्रीय केंद्र रेको दीक खनन पट्टे मामले में फाइन रद्द करने की पाकिस्तान की अपील पर विचार कर रहा है.

वहीं टेथियान के अधिकारियों ने कहा कि उन्हें कोई भी अपडेट नहीं मिला है. पाकिस्तान के अटॉर्नी जनरल के कार्यालय के एक अधिकारी ने कहा कि टेथियान कॉपर कॉर्प, या टीसीसी के साथ कोर्ट के बाहर सेटलमेंट के लिए अंतिम निर्णय लंबित था, जो अगले साल तक नहीं आ सकता. टेथियान की वेबसाइट के डेटा के मुताबिक रेको दीक माइनिंग प्रोजेक्ट में लगभग 3.3 बिलियन अमेरिकी डॉलर की लागत से एक विश्वस्तरीय तांबा-सोने की खुली खदान का निर्माण होना था.

Latest News

World News