Trending News

पाकिस्तान के खिलाफ भारत को अब ईरान का साथ भी मिला

[Edited By: Rajendra]

Sunday, 6th September , 2020 02:17 pm

अफगानिस्तान में पाकिस्तान की हरकतों पर लगाम लगाने के लिए भारत को अब ईरान का साथ भी मिल गया है. रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह रविवार को रूस से सीधा ईरान पहुंचे. वहां उन्होंने ईरान के रक्षा मंत्री ब्रिगेडियर आमिर हातामी से मुलाकात की. दोनों ने द्विपक्षीय सहयोग बढ़ाने और अफगानिस्तान में शांति स्थापित करने के तरीकों पर बात की. अफगानिस्तान की इस शांति में सबसे बड़ी रुकावट पाकिस्तान ही है. वहीं पाकिस्तान और ईरान के संबंध भी कुछ खास अच्छे नहीं हैं.

रक्षा मंत्रालय ने बताया था कि दोनों रक्षा मंत्रियों ने इस बात पर जोर दिया कि द्विपक्षीय सहयोग को और आगे कैसे लेकर जाया जाए. अफगानिस्तान में किस तरह स्थिरता और शांति लाई जा सकती है इसपर भी बात हुई.

मुलाकात के बाद राजनाथ सिंह ने लिखा, 'ईरान के रक्षा मंत्री ब्रिगेडियर आमिर हातामी से तेहरान में अच्छी मुलाकात हुई. हमने अफगानिस्तान समेत दूसरे क्षेत्रीय सुरक्षा के मुद्दों पर बात की. दोनों के बीच द्विपक्षीय सहयोग की भी बात हुई.'

ईरान दौरे के दौरान रक्षा मंत्रालय के ट्विटर अकाउंट से लिखा गया, 'दोनों मंत्रियों के बीच बातचीत बेहद अच्छे माहौल में हुई. दोनों ही नेताओं ने सदियों पुरानी सांस्कृतिक, भाषाई और सभ्यता संबंधी संबंधों पर जोर देकर रिश्ते मजबूत करने की बात की.'

बता दें कि पाकिस्तान के ग्वादर पोर्ट के जवाब में भारत ईरान के चाबहार बंदरगाह को विकसित कर रहा है. ईरान के साथ तो भारत का कारोबार बढ़ ही चुका है. इस बंदरगाह के विकसित होने के बाद रूस, ताजिकिस्तान, तुर्कमेनिस्तान, कजाकिस्तान और उज्बेकिस्तान से भी भारत व्यापार बढ़ा सकेगा. भारत के साथ डील से ईरान का भी फायदा है. कट्टर शिया देश होने की वजह से उसके और पाकिस्तान के रिश्ते अच्छे नहीं हैं. व्यापारिक रिश्ते मजबूत होने से भारी दबाव से गुजर रही ईरानी अर्थव्यवस्था को भी मजबूती मिलेगी. बता दें कि इससे पहले राजनाथ सिंह संघाई कॉर्पोरेशन ऑर्गेनाइजेशन में हिस्सा लेने के लिए मॉस्को गए हुए थे. वहां रूस के साथ-साथ चीन के रक्षामंत्री से भी राजनाथ सिंह की बात हुई थी.

Latest News

World News