Trending News

फिल्म 'जिंदगी ना मिलेगी दोबारा, में नेपोटिज्म हावी रहा - अभिनेता अभय देओल

[Edited By: Rajendra]

Saturday, 20th June , 2020 04:15 pm

बॉलीवुड अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत अब हमारे बीच नहीं है । लेकिन उनके जाने के बाद कई सवाल उठ रहे है ।वहीं आपको बता दें कि जिसके बाद से बॉलीवुड में नेपोटिज्म का मामला तेजी से गरमा रहा है। सुशांत की आत्महत्या को भी नेपोटिज्म से जोड़कर ही देखा जा रहा है। बॉलीवुड से भी कई सितारे अब खुलकर नेपोटिज्म पर अपनी राय दे रहे हैं और हर कोई नेपोटिज्म का शिकार होने की बात कर रहा है। इसी कड़ी में अब अभिनेता अभय देओल ने भी नेपोटिज्म को लेकर अपना एक्सपीरियंस शेयर किया है।गौरतलब है कि अभय देओल ने फिल्म जिंदगी ना मिलेगी दोबारा फिल्म को नेपोटिज्म का शिकार बताया है।

सभी अवॉर्ड शोज ने मुझे और फरहान को मुख्य किरदार से डिमोट कर दिया था। आगे अभय ने लिखा, 'हमें सपोर्टिंग एक्टर्स के तौर पर नॉमिनेट किया गया था।जबकि ऋतिक और कटरीना को लीडिंग रोल के लिए नॉमिनेट किया गया था। इंडस्ट्री के हिसाब से ये एक लड़के और लड़की की प्रेम कहानी थी,जिसमें लड़के के दोस्तों ने उसकी मदद की। मैंने इस बात के खिलाफ बगावत की लेकिन फरहान को इससे दिक्कत नहीं थी।' इसके आगे अभय ने हैशटैग में लिखा, 'फैमिली फेयर अवॉर्ड'।गौरतलब है कि फिल्म 'जिंदगी ना मिलेगी दोबारा' साल 2011 में रिलीज हुई थी। इस फिल्म में मुख्य किरदार में ऋतिक रोशन, अभय देओल और फरहान अख्तर थे। फिल्म में इन तीनों के अलावा अभिनेत्री कटरीना कैफ और कल्कि केकलां भी थे।

अभय ने फिल्म की एक तस्वीर पोस्ट करते हुए इस बारे में खुलकर बात की है। फिल्म की कहानी तीन दोस्तों पर आधारित थी। लेकिन फिल्म में अभय और फरहान को एक भी अवॉर्ड नहीं मिला।अभय ने अपने आधिकारिक इंस्टाग्राम अकाउंट के जरिए एक तस्वीर साझा की है। इस तस्वीर के साथ अभय ने लिखा, 'जिंदगी ना मिलेगी दोबारा, 2011 में रिलीज हुई थी।इन दिनों अपनी इस फिल्म का बहुत नाम लेना पड़ रहा है। परेशान होने पर इस फिल्म को देखना बहुत सही है।

Latest News

World News