Trending News

सरकार ने विदेशी नागरिकों को शतों के साथ भारत आने की अनुमति दी

[Edited By: Rajendra]

Wednesday, 3rd June , 2020 05:42 pm

कोरोना के कहर से बचने के लिए दूसरे देश में फंसे लोग स्वदेश आना चाहते हैं. लेकेन वायरस के संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए भारत सरकार अभी इसकी इजाजत नहीं दे रही है. हालांकि कुछ लोगों को स्वदेश वापसी हुई है. इसका सारा खर्च उसे खुद ही उठाना पड़ रहा है. लेकिन इस बीच भारत सरकार ने विदेशी नागरिकों की कुछ श्रेणियों के लिए वीजा यात्रा प्रतिबंध में छूट के संबंध में विचार किया है. जिन्हें भारत आने की आवश्यकता है. भारत आने के लिए विदेशी नागरिकों की कुछ श्रेणियों को अनुमति देने का निर्णय लिया गया है.

इन विदेशियों में व्यापारी वर्ग भी शामिल हैं, जो बिजनेस वीजा के जरिए भारत आ सकेंगे. हालांकि ch 3 वीजा धारकों को अभी देश में आने की इजाजत नही होगी. ये लोग कमर्शियल चार्टेड विमानों के जरिए भारत आ सकेंगे. एक वरिष्ठ अधिकारी के मुताबिक गृह मंत्रालय के आदेश के बाद नॉन शेड्यूल कमर्शियल चार्टेड विमानों को विदेशों से भारत आने की इजाजत दी गई है.

मालूम हो कि फिलहाल शेड्यूल्ड इंटरनेशनल पैसेंजर फ्लाइट्स पर इस महीने के आखिर तक रोक लगी हुई है. हालांकि ये नियम अंतरराष्ट्रीय कार्गो ऑपरेशन द्वारा मान्य कुछ विमानों पर लागू नहीं है. भारत ने 11 मार्च को विदेशियों को दिए वीजा पर रोक लगा दी थी.

विदेशी व्यापारी जो भारत में नॉन शेड्यूल कमर्शियल चार्टेड विमान से आना चाहे (बी-3 वीजा धारकों को मंजूरी नहीं)
विदेशी हेल्थकेयर पेशेवरों, हेल्थ रिसर्चर, भारतीय हेल्थ सेक्टर सुविधाओं में और लेबोरेटरी में काम करने वाले इंजीनियर और टेक्निसियन को वीजा मिलेगा. हालांकि इसके लिए उन्हें किसी रजिस्टर्ड कंपनी, यूनिवर्सिटी से भेजा गया आमंत्रण पत्र दिखाना होगा.

भारत में स्थित विदेशी बिजनेस संस्थाओं के लिए इंजीनियर और अन्य विशेषज्ञों को भी वीजा मिलेगा. इसमें सभी मैन्यूफैक्चरिंग यूनिट्स, डिजाइन यूनिट्स, सॉफ्टवेयर और आईटी के साथ फाइनेंशियल सेक्टर की कंपनियां शामिल हैं.

विदेशों से भारत आईं मशीनों को ठीक करने के लिए आने वाले विदेशी विशेषज्ञों को भी भारत आने की मंजूरी मिलेगी. हालांकि इसके लिए उन्हें भारत में मौजूद संस्था से भेजा गया निमंत्रण पत्र दिखाना होगा.

Latest News

World News