Trending News

'लखटकिया' को लगी नजर, अब रतन टाटा के ड्रीम प्रोजेक्ट नैनो की जगह लेगी इलेक्ट्रिक निओ !

[Edited By: Gaurav]

Wednesday, 9th October , 2019 01:30 pm

रतन टाटा के 'ड्रीम प्रोजेक्ट' लखटकिया नैनो का उत्पादन ठप हो गया है. मार्च 2009 में शान से लॉन्च की गई टाटा मोटर्स की कार नैनो को इस साल 2019 में खरीदार ही नहीं मिल रहे हैं. पिछले नौ महीनों में देश भर में केवल एक नैनो कार ही बिकी है. यही नहीं कंपनी ने इस दौरान एक भी नैनो कार का उत्पादन भी नहीं किया है. जब टाटा नैनो कार लांच की गई थी, तो उस समय माना जा रहा था कि यह दुनिया की सबसे सस्ती कार है. लेकिन यह कार लॉन्चिंग के साथ से ही विवादों में फंसती रही और कुछ ही साल में ये हाल है कि नैनो को खरीदार नहीं मिल रहे हैं. हालांकि टाटा मोटर्स की तरफ से इस बात की आधिकारिक घोषणा नहीं की गई है कि उसने नैनो का उत्पादन बंद कर दिया गया है. नैनो को मार्च 2009 में जब लांच किया गया था, उस वक्त इसकी कीमत एक्स फैक्ट्री 1 लाख रुपये घोषित की गई थी.

देश की लिस्टेट कंपनियों को शेयर बाजार को रह बात की जानकारी दी जाती है. इसे रेग्युलेटरी फाइलिंग कहा जाता है। टाटा मोटर्स की तरफ से दी गई जानकारी के अनुसार इस साल सितंबर में डोमेस्टिक मार्केट में नैनो का कोई उत्पादन नहीं हुआ है. वहीं इस दौरान नैनो की बिक्री भी नहीं हुई है. इस प्रकार यह लगातार नौवां महीना है जब नैनो की बिक्री नहीं हुई है. इस जानकारी के अनुसार टाटा मोटर्स ने पिछले साल जनवरी से सितंबर तक297 यूनिट नैनो का ही उत्पादन किया.

सिंगूर विवाद

सिंगूर में हुआ था विवाद नैनो का उत्पादन शुरू होने के पहले विवाद शुरू हो गया था. शुरुआत में टाटा मोटर्स इसका कारखाना पश्चिम बंगाल के सिंगूर में लगा रही थी. लेकिन बाद में इसका विरोध शुरू हो गया. यह विरोध एक समय हिंसक हो गया. बाद में कंपनी को सिंगूर से हटना पड़ा और बाद में यह कारखाना गुजरात में लगाया गया.

लगातार गिर रही है डिमांड

टाटा मोटर्स ने इस साल अगस्त में देश भर में फैले अपने 630 आउटलेट में 180 नैनो भेजी थी (अगस्त 2016 में इसकी संख्या 711 थी). सितंबर महीने में कार की केवल 124 यूनिट भेजी गई, जबकि, अक्टूबर में इसकी संख्या और गिरकर केवल 57 रह गई. सितंबर और अक्टूबर के त्योहारों के सीजन होने के चलते कार की डिमांड अधिक थी.

10-50 हजार तक का डिस्काउंट देने के बाद भी नहीं बिक रही नैनो

टाटा मोटर्स के पांच डीलरों ने बातचीत के दौरान बताया कि उनके पास नैनो के स्टॉक रखे हैं, लेकिन भविष्य में इस गाड़ी के लिए उन्होंने कंपनी से कोई डिमांड नहीं रखी है. टाटा मोटर्स पंजाब के एक डीलर ने कहा कि हिमाचल प्रदेश में एक डीलर के पास कुछ खरीदार थे. उन्होंने कुछ कारों का डीलर टू डीलर ट्रांसफर किया.

खबर है कि नैनो की जगह लेगी निओ

पिछले हफ्ते यह बताया गया था कि नैनो का इलेक्ट्रिक वर्जन का निर्माण किया जा रहा है. इसे टाटा मोटर्स और कोयंबटूर स्थित जयम ऑटोमोटिव्स मिल कर बना रहे हैं. यह भी खबर आई थी कि इस नई कार का नाम निओ होगा, इसे नैनो के बंद होने के तौर पर देखा जा रहा है.

Latest News

World News