Trending News

शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल को लिट्रेचर में अभूतपूर्व योगदन के लिए 'वातायन लाइफटाइम अचीवमेंट' अवार्ड

[Edited By: Vijay]

Monday, 23rd November , 2020 01:24 pm

शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक को 21 नवंबर को साहित्य के क्षेत्र में उनके अभूतपूर्व योगदान के लिए 'वातायन लाइफटाइम अचीवमेंट' अवार्ड से सम्मानित किया गया. इसके बाद शिक्षा मंत्री ने भारत की विविधता में एकता बनाए रखने में भाषा द्वारा निभाई गई भूमिका पर प्रकाश डाला. इस मौके पर रमेश पोखरियाल निशंक ने कहा,"संस्कृति और भाषा एक-दूसरे से जुड़ी हुई हैं, जैसे-जैसे भाषा मजबूत होती जाती है, वैसे-वैसे संस्कृति और सभ्यता भी. इसी तरह, लेखन से देश की सभ्यता और संस्कृति भी मजबूत होती है." इसके अलावा, उन्‍होंने कहा कि साहित्य हमारी सांस्कृतिक, आध्यात्मिक और शैक्षिक विरासत है जो देश को अदृश्य रूप से मजबूत करती है.

वातायन अंतरराष्ट्रीय पुरस्कार कवियों, लेखकों और कलाकारों को उनके संबंधित क्षेत्रों में उनके अनुकरणीय कार्यों को सम्मानित करने के लिए दिया जाता है. इससे पहले प्रसून जोशी, जावेद अख्तर जैसी कई प्रतिष्ठित हस्तियों को उनके साहित्यिक योगदान के लिए यह सम्मान दिया जा चुका है.

पुरस्कार नेहरू सेंटर, लंदन के प्रख्यात और गणमान्य व्यक्ति अमीश त्रिपाठी, लेखक और निर्देशक मीरा कौशिक, चेयरमैन वातायन, कवि अनिल शर्मा जोशी, वाइस चेयरमैन सेंट्रल बोर्ड, आगरा और अदिति माहेश्वरी, कार्यकारी निदेशक वाणी प्रकाशन की उपस्थिति में एक ऑनलाइन समारोह में प्रदान किया गया. निशंक को इससे पहले साहित्य और प्रशासन के क्षेत्र में कई पुरस्कार मिले हैं. जिनमें तत्कालीन प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी द्वारा साहित्य पुरस्कार, पूर्व राष्ट्रपति एपीजे अब्दुल कलाम द्वारा साहित्य गौरव सम्मान, भारत गौरव सम्मान, दुबई सरकार द्वारा सुशासन पुरस्कार और उत्कृष्ट उपलब्धि पुरस्कार शामिल हैं. 

Latest News

World News