Trending News

डोनाल्ड ट्रंप ने प्रदर्शनकारियों को 'ठगों का झुंड' बताया

[Edited By: Rajendra]

Saturday, 19th September , 2020 03:35 pm

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने कहा है कि अफ्रीकी-अमेरिकी जॉर्ज फ्लॉयड की मौत के बाद हिंसक हुए प्रदर्शनकारियों ने वॉशिंगटन डीसी में महात्मा गांधी की प्रतिमा को भी नहीं छोड़ा. डोनाल्ड ट्रंप ने प्रदर्शनकारियों को 'ठगों का झुंड' बताया.

घटना का वीडियो वायरल होने के बाद पूरे देश में हिंसक प्रदर्शन शुरू हो गए. वायरल वीडियो में जॉर्ज फ्लायड पुलिस अधिकारी से विनती कर रहा था कि वह सांस नहीं ले पा रहा है. उग्र प्रदर्शनकारियों ने लूटपाट, दंगे भड़काने के साथ हिंसक विरोध-प्रदर्शन किया.

मिनीसोटा में चुनावी सभा को संबोधित करते हुए डोनाल्ड ट्रंप ने कहा कि प्रदर्शनकारियों ने अब्राहम लिंकन की प्रतिमा को निशाना बनाया, उन्होंने प्रदर्शनकारियों को रोकते हुए बताया कि यह कौन है, और आप एसा कर रहे हैं. तब प्रदर्शनकारियों ने जॉर्ज वाशिंगटन, थॉमस जेफरसन को निशाना बनाना शुरू कर दिया. बतादें कि 2016 में मिनीसोटा से ट्रंप 44 हजार वोटों से हार गए थे.

25 मई को मिनियापोलिस में 46 साल के अश्वेत जॉर्ज फ्लायड की मौत हो गई थी. व्हाइट हाउस के पुलिस अधिकारी डेरेक चाउविन ने फ्लायड को हथकड़ी लगाकर जमीन पर गिरा दिया था और उसके बाद उसके गले को घुटने से करीब आठ मिनट तक दबाए रखा, जिसकी वजह से उसकी मौत हो गई थी.

मिनीसोटा में चुनावी सभा को संबोधित करते हुए डोनाल्ड ट्रंप ने वाशिंगटन डीसी में गांधी की प्रतिमा का भी जिक्र किया. दरअसल गांधी प्रतिमा के साथ भी उग्र प्रदर्शनकारियों ने बर्बरता की थी. ट्रंप ने कहा कि उनके पास गांधी भी थे, गांधी सिर्फ शांति चाहते थे. हमारे पास शांति है. ट्रंप ने कहा कि प्रदर्शनकारियों ने गांधी की प्रतिमा को नीचे गिराया, हम उन्हें पसंद नहीं करते. इसके साथ ही ट्रंप ने कहा कि उनको नहीं पता कि वे क्या कर रहे हैं

चुनावी रैली को संबोधित करते हुए ट्रंप ने कहा कि उन्होंने एक कार्यकारी आदेश पर हस्ताक्षर किए हैं, जो 10 साल के लिए ऐसे बदमाशों को जेल में डाल देगा. गांधी की प्रतिमा को राष्ट्रीय पार्क पुलिस और विदेश विभाग की मदद से, भारत के दूतावास द्वारा फिर से स्थापित किया गया है.

Latest News

World News