Trending News

अमेरिकी की ताइवान के साथ प्रस्तावित आर्थिक वार्ता को लेकर चीन खासा नाराज

[Edited By: Rajendra]

Tuesday, 15th September , 2020 03:55 pm

अमेरिकी की ताइवान के साथ प्रस्तावित आर्थिक वार्ता को लेकर चीन खासा नाराज है। चीन ने सोमवार को अमेरिका को आगाह किया कि यदि वह इस प्रस्तावित आर्थिक बैठक से पीछे नहीं हटता है, तो दोनों देशों के संबंधों को 'गंभीर नुकसान' हो सकता है।

चीन के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता वांग वेनबिन ने संवाददाता सम्मेलन के दौरान अमेरिका से कहा कि वह ''ताइवान के साथ सभी आधिकारिक बातचीत बंद करके, चीन-अमेरिका संबंध को गंभीर क्षति पहुंचने से रोके और ताइवान जलडमरूमध्य में शांति तथा स्थिरता बनाए रखे।'' ताइवानी मीडिया में आयी खबरें के अनुसार, अमेरिका के आर्थिक विकास, ऊर्जा और पर्यावरण मामलों के अवर मंत्री कीथ क्राच इस सप्ताह के अंत में ताइवान की सरकार के साथ आर्थिक और वाणिज्यिक वार्ता के लिए द्वीप देश आ रहे हैं।

इससे पहले अमेरिका के स्वास्थ्य मंत्री एलेक्स अजार पिछले महीने ताइवान की यात्रा पर आए थे। अमेरिका और ताइवान सरकार के बीच 1979 में औपचारिक संबंध समाप्त होने के बाद अजार द्वीप देश की यात्रा करने वाले पहले शीर्ष अमेरिकी नेता हैं। आशंका है कि अमेरिकी मंत्री क्राच की यात्रा से चीन और नाराज होगा। चीन स्वशासित ताइवान को अपने देश का हिस्सा मानता है और अन्य देशों के साथ द्वीप देश के द्विपक्षीय संपर्क तथा संबंधों के खिलाफ है।

अमेरिका-चीन आर्थिक बैठक में एक वरिष्ठ अमेरिकी मंत्री के भाग लेने की संभावना है। चीन के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता वांग वेनबिन ने दैनिक संवाददाता सम्मेलन में अमेरिका से ताइवान के साथ सभी तरह के आधिकारिक आदान-प्रदान रोकने का आग्रह किया।

उन्होंने कहा कि यदि अमेरिका ऐसा नहीं करता है, तो दोनों देशों के संबंधों को 'गंभीर क्षति' पहुंच सकती है और इससे ताइवानी क्षेत्र में शांति और स्थिरता प्रभावित हो सकती है। ताइवान के मीडिया में आई खबरों में कहा गया है कि अमेरिका के आर्थिक वृद्धि, ऊर्जा और पर्यावरण उपमंत्री कीथ क्रैक इस सप्ताह ताइवान की यात्रा पर जा सकते हैं।

वहां वह ताइवान सरकार के साथ आर्थिक और वाणिज्यिक मुद्दों पर बातचीत करेंगे। इससे पहले पिछले महीने अमेरिका के स्वास्थ्य मंत्री एलेक्स अजार ताइवान की यात्रा पर गए थे। 1979 में अमेरिका और ताइवान की सरकारों के बीच औपचारिक संबंध समाप्त होने के बाद यह अमेरिका के किसी शीर्ष कैबिनेट मंत्री की पहली ताइवान यात्रा थी।

Latest News

World News