Trending News

भाजपा ने 3 विधायकों के साथ आने के लिए रु. 100 करोड़ की ऑफर - मांगरोल के कांग्रेस विधायक बाबू वाजा

[Edited By: Rajendra]

Friday, 5th June , 2020 02:01 pm

मांगरोल के कांग्रेस विधायक बाबू वाजा ने भाजपा पर प्रहार करते हुए कहा कि भाजपा उन्हें 15 करोड़ रुपए की ऑफर की है. यह तीसरी बार है जब भाजपा ने जब मुझे ऑफर की है. इससे पहले भाजपा ने 3 विधायकों के साथ आने के लिए रु. 100 करोड़ की ऑफर की थी. बाबू वाजा ने सरकार को नसीहत दी है कि वह विधायकों की खरीद-फरोख्त में रुपए खर्च करने के बजाए कोरोना की दवाई बनाने पर खर्च करे, ताकि लोगों को बचाया जा सके. मांगरोल के कांग्रेस विधायक के इस दावे के बाद राजनीति गरमा गई है.

राज्यसभा चुनाव से पहले गुजरात में कांग्रेस पार्टी के सामने बड़ा संकट खड़ा हो गया है. पिछले तीन दिनों में पार्टी के 3 विधायक इस्तीफा दे चुके हैं. ऐसे में अब तक 8 कांग्रेस विधायक हाथ का साथ छोड़ चुके हैं. फिलहाल इस्तीफा देने वाले विधायक मोरबी से ब्रिजेश मेरजा हैं. इससे पहले अक्षय पटेल और जीतू चौधरी भी पार्टी का साथ छोड़ा है.

विधानसभा सचिव ने पुष्टि की कि विधानसभा अध्यक्ष राजेन्द्र त्रिवेदी ने मेरजा का इस्तीफा स्वीकार कर लिया है। मेरजा ने मोरबी सीट से चुनाव जीता था। पिछले तीन दिन में इस्तीफा देने वाले वह कांग्रेस के तीसरे विधायक हैं।

इससे पहले राज्यसभा चुनाव के ऐलान के बाद कांग्रेस के पांच विधायकों ने इस्तीफा दे दिया था. गढ्डा से प्रवीण मारू, लिंबडी से सोमा पटेल, अबडासा से प्रद्युम्न सिंह जडेजा, धारी से जेवी काकड़िया और डांग से मंगल गावित ने अपना इस्तीफा दिया था. वहीं, कल यानी गुरुवार को जिन दो विधायकों ने इस्तीफा दिया, वे अक्षय पटेल और जीतू चौधरी थे.

इससे पहले राज्यसभा चुनाव के ऐलान के बाद कांग्रेस के पांच विधायकों ने इस्तीफा दे दिया था. गढ्डा से प्रवीण मारू, लिंबडी से सोमा पटेल, अबडासा से प्रद्युम्न सिंह जडेजा, धारी से जेवी काकड़िया और डांग से मंगल गावित ने अपना इस्तीफा दिया था.

गुजरात में कांग्रेस विधायकों की संख्या अब 66 रह गई है. कांग्रेस का आरोप है कि यह पूरा खेल राज्य में आने वाली 4 राज्यसभा सीटे को लेकर खेला जा रहा है. 19 जून को गुजरात में राज्यसभा की 4 सीटों पर चुनाव होना है. भाजपा ने तीन और कांग्रेस ने 2 उम्मीदवारों को मैदान में उतारा है. कांग्रेस विधायकों के इस्तीफे से पहले संख्याबल के आधार पर दोनों के दो-दो उम्मीदवारों की जीत तय थी. लेकिन कांग्रेस के 8 विधायकों के इस्तीफे के बाद बाजी पलट गई है और भाजपा के तीनों उम्मीदवार की जीत और कांग्रेस के एक प्रत्याशी की हार तय है.

Latest News

World News