Trending News

अर्मेनिया का अजरबैजान पर मिसाइल हमला

[Edited By: Rajendra]

Thursday, 29th October , 2020 03:34 pm

अजरबैजान और अर्मेनिया के बीच जंग छिड़ी हुई है. अर्मेनिया के मिसाइल हमले में देर रात अजरबैजान के 20 से ज्यादा लोगों की मौत हो गई है. अर्मेनिया ने अजरबैजान के विमान को मार गिराने का दावा किया है. वहीं अजरबैजान ने भी जवाबी कार्रवाई करते हुए अर्मेनिया पर रात में एयर स्ट्राइक की है.

अजरबैजान रिहायशी इलाके पर किए हमले का आरोप अर्मेनिया पर लगा रहा है. अजरबैजान का आरोप है कि आर्मेनिया ने विवादित क्षेत्र के बाहर जाकर रिहायशी इलाकों में हमले किए हैं. दूसरी तरफ आर्मेनिया का भी आरोप है कि अजरबैजान ने स्टेपेनकर्ट और सुशी शहर में अस्पतालों पर हमले किए हैं. अजरबैजान जहां अस्पताल पर हमले के आरोप से इनकार कर रहा है वहीं आर्मेनिया भी बारडा शहर पर हमले से इनकार कर रहा है. इस बीच अजरबैजान की तरफ से एक नया वीडियो जारी किया गया है. इस वीडियो में अजरबैजान की सेना आसमान से आग बरसाते हुए दिख रही है.

नीचे आर्मेनिया के सैनिक और उनके ठिकाने नजर आ रहे हैं और टारगेट लॉक करके एक धमाके में सब तबाह कर दिया जाता है. रॉकेट लॉन्चर से विमान को निशाना बनाया जाता है. और धमाके के साथ विमान आग के गोले में बदल जाता है. ये वीडियो आर्मेनिया की तरफ से जारी किया गया है जिसमें अजरबैजान के विमान को मार गिराने का दावा किया गया है. अजरबैजान-आर्मेनिया में बीते दो दिनों में जंग काफी तेज हो गई है. और अब अजरबैजान पर भी पहली बार बड़ा हमला हुआ है.

पहली बार अजरबैजान को बड़ा झटका लगा है. मिसाइल हमले में अजरबैजान के 20 से ज्यादा लोग की मौत हुई है. अजरबैजान ने फिर आर्मेनियाई सैनिकों पर एयरस्ट्राइक की है. आर्मेनिया ने अजरबैजान के विमान को मार गिराने का दावा किया है. अजरबैजान-आर्मेनिया के बीच महीने भर से चल रही लड़ाई में अजरबैजान को अब तक का सबसे बड़ा नुकसान उठाना पड़ा है. अजरबैजान के बारडा शहर पर मिसाइल और रॉकेट लॉन्चर दागे गए है. बारडा शहर पर हुए इस हमले में अजरबैजान के बीस से ज्यादा नागरिक मारे गए हैं. महीने भर में ये पहला मौका है जब एक साथ अजरबैजान के इतने लोगों की मौत की खबर है.

अजरबैजान में अब तक 65 लोगों की मौत हुई है जबकि 300 से ज्यादा लोग घायल हुए हैं. आर्मेनिया के 1009 सैनिक और 39 नागरिक मारे गए हैं. अजरबैजान सैनिकों की मौत के आंकड़े जारी नहीं करता है. अजरबैजान-आर्मेनिया में ना तो जंग रुक रही है और दोनों के तेवर देखते हुए इसके आसार भी नजर नहीं आ रहे हैं. अजरबैजान के रिहायशी इलाकों पर हमले के बाद पहले से तैयार तुर्की की सेना भी युद्ध में उतर सकती है. फिलहाल बारडा पर हुए हमले के बाद ये तनाव और बढ़ता नजर आ रहा है.

Latest News

World News