Trending News

'अमेरिका का खुलासा', आईएसआईएस-K ने 2018 में भारत पर की थी आत्मघाती हमले की कोशिश

[Edited By: Admin]

Wednesday, 6th November , 2019 06:31 pm

इस्लामिक स्टेट ऑफ इराक एंड द लेवेंट (ISIS) के सरगना बगदादी को तो अमेरिका ने खत्म कर दिया मगर मगर आतंक को पूरी तरह खत्म करना केवल अमेरिका के बस की बात नहीं है. अमेरिका ने हाल ही में एक बड़ा खुलासा किया है.

न्यूज एजेंसी की रिपोर्ट के अनुसार अमेरिका के एक शीर्ष अधिकारी ने कानूनविदों को बताया है कि दक्षिण एशिया में संचालित आईएसआईएस या आईएसआईएस-के के खुरासान समूह ने साल 2018 में भारत में आत्मघाती हमले का प्रयास किया था.

राष्ट्रीय आतंकवाद निरोधी केंद्र के कार्यवाहक निदेशक रसेल ट्रैवर्स ने कहा कि वास्तव में, आईएसआईएस की सभी शाखाओं में से आईएसआईएस-K वो संगठन है जो अमेरिका के लिए सबसे अधिक चिंता का विषय है.'

ट्रैवर्स ने कहा कि जब हसन ने आईएसआईएस-K की इस क्षेत्र में आतंकवादी हमलों को अंजाम देने की क्षमता के बारे में पूछा तो पता चला कि उन्होंने निश्चित रूप से अफगानिस्तान के बाहर हमलों को प्रेरित करने का प्रयास किया है. उन्होंने पिछले साल भारत में आत्मघाती हमले का प्रयास किया था लेकिन वो विफल हो गया.'

हसन ने पिछले महीने अफगानिस्तान और पाकिस्तान की यात्रा की थी, इस दौरान उन्होंने कहा कि उन्होंने आईएसआईएस-के के बढ़ते खतरे के बारे में अमेरिकी सेना की चिंताओं को पहली बार सुना है, जो अफगानिस्तान में आईएसआईएस से जुड़े हैं.

हसन ने कहा, 'मैंने स्पष्ट रूप से सुना है कि आईएसआईएस-K न केवल अफगानिस्तान में अमेरिकी सेनाओं को धमकी देता है, बल्कि अमेरिकी मातृभूमि पर हमले के लिए भी डिजाइन है.'


पिछले हफ्ते, ट्रैवर्स ने कहा था कि वैश्विक रूप से 20 से अधिक आईएसआईएस शाखाएं थीं, जिनमें से कुछ परिचालन का संचालन करने के लिए ड्रोन जैसी परिष्कृत तकनीक का उपयोग कर रही हैं. सीनेटर हसन ने कहा कि सीरिया और इराक में ISIS के खिलाफ अमेरिका की प्रमुख जीत के बावजूद, आतंकी संगठन संयुक्त राज्य अमेरिका के लिए एक घातक खतरा बना हुआ है.

ट्रैवर्स ने कहा कि आईएसआईएस-के ने कुछ साल पहले न्यूयॉर्क में हमले के लिए प्रेरित करने की कोशिश की थी लेकिन एफबीआई बाधित हो गई. उन्होंने कहा कि 2017 में स्टॉकहोम में एक हमला हुआ जिसमें पांच लोग मारे गए.

Latest News

World News